Sidebar Menu

विशेष

Home / विशेष

लोकजतन सम्मान 2019 : उम्मीद की लौ

  • Jul 26, 2019

जिस भी अखबार में काम किया वहां उदरपूर्ति के लिये मालिकों द्वारा तय सम्पादकीय नीति पर चले, लेकिन एक व्यक्ति के तौर पर कभी भी उन्हें अपने मूल्यों से समझौता करते नहीं देखा।

Read More

लोकजतन सम्मान 2019 : मेरे पापा-मेरे हीरो

  • Jul 26, 2019

मेरे बचपन से ही मेरे पिताजी ने मुझे हार न मानने और हमेशा आगे बढऩे की सीख देते हुए हमेशा मेरा हौसला बढ़ाया है।

Read More

लोकजतन सम्मान 2019 : विद्रोही जी

  • Jul 26, 2019

एक पत्रकार, संपादक, लेखक अपने लिखने के अलावा और क्या करता है हमारे ख्याल में जाने या अनजाने वह पत्रकारों की पीढ़ी दर पीढ़ी तराश करता है जो मुल्यों के प्रति आस्था रखती हैं।

Read More

लोकजतन सम्मान 2019 : डॉ.राम विद्रोही-एक परिचय

  • Jul 26, 2019

पिछले सत्तावन सालो से पत्रकारिता से सक्रिय रूप से जुड़े हुए विद्रोही जी ऐसे व्यक्तित्व हैं ,जिनका नाम हिन्दी पत्रकारिता में उनका नाम सम्मान के साथ लिया जाता है। उनका परिचय औपचारिक बॉयोडाटा के खांचे में नही समा सकता। तब भी पारंपरिक हिसाब से कहा जाए तो यह कि;   उनका जन्म 9 जुलाई 1943 को  मध्यप्रदेश के गुना में हुआ।  अपने पत्रकारिता के काम के दौरान वे दैनिक भास्कर-ग्वालियर,जय राजस्थान, राजस्थान पत्रिका उदयपुर-जोधपुर...

Read More

सर्वोच्च न्यायालय का आदेश : कानून का कंधा और मनुवादी बंदूक

  • Mar 05, 2019

प्रश्न यह है कि अक्सर भाजपा सरकार के समय ही ऐसे आदेश क्यों आते हैं? इससे पहले अटल बिहारी वाजपेयी सरकार के समय 30 मई 2002 को आदेश जारी कर आदिवासियों और वनवासियों को वनभूमि से बेदखल करने का आदेश जारी किया था। 

Read More

लोकजतन के मजबूत स्तंभ : प्रदीप का यूं चले जाना

  • Jan 06, 2019

अपनी पहचान को सुरक्षित रखने के खतरे पग पग पर होते हैं। प्रदीप ने इन्हीं खतरों को उठाया। 

Read More

प्रदीप तिवारी : लाल झण्डा ओढ़ाकर नारों के साथ दी अंतिम विदाई

  • Jan 05, 2019

लोकजतन संपादक मण्डल सदस्य, हम सबके वरिष्ठ साथी और सहयोगी प्रदीप तिवारी नहीं रहे ।

Read More

सावित्री बाई फुले: अज्ञानता और अंधविश्वास का प्रसार रोकना होगा

  • Jan 03, 2019

3 जनवरी सावित्री बाई फुले का जन्म दिन है। यूं अब भाजपा और दबी जुबान में संघ परिवार भी सावित्री बाई फुले और महात्मा ज्येतिबा राव फुले का नाम लेने लगा है, मगर उन्हें अपने महापुरुषों में शामिल नहीं किया है। वे ऐसा कर भी नहीं सकते हैं। और जहां तक सावित्री बाई फुले की शिक्षाओं का प्रश्र है, उनका तो वे भूलवश भी जिक्र नहीं करते हैं।

Read More

सबरीमाला मंदिर में 50 साल से कम उम्र की 2 महिलाओं का ऐतिहासिक प्रवेश

  • Jan 02, 2019

ऐतिहासिक 'वनिता मैथिल' या 'महिला दिवार' बनाये जाने के चंद घंटो में ही केरल के सबरीमाला में मंदिर में प्रतिबंधित उम्र की 2 महिलाओं ने प्रवेश कर इतिहास रच दिया वे बुधवार सुबह सबरीमाला में भगवान अयप्पा मंदिर में पूजा करने में कामयाब रहीं।

Read More

जेएनयू में फिर जीता वाम छात्र मोर्चा-कैम्पस में गूंजा लाल सलाम

  • Sep 18, 2018

इस जीत के बाद एक बार फिर साम्प्रदायिक व अराजकतावादी अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद को जेएनयू छात्रों ने नकार दिया है।

Read More